क्रिप्टोक्यूरेंसी ट्रेडिंग

XTB में कैसे लॉग इन करें

XTB में कैसे लॉग इन करें
जीएसटी परिषद की 19 XTB में कैसे लॉग इन करें सितंबर की बैठक टली, अब पांच अक्टूबर को होगी******GST Council meeting postponed to October 5 जीएसटी परिषद की बैठक पांच अक्टूबर तक टल गई है। पहले यह बैठक 19 सितंबर XTB में कैसे लॉग इन करें को होनी थी। सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि परिषद की 42वीं बैठक को टाल दिया गया है, क्योंकि उस दौरान संसद का सत्र चल रहा होगा। केंद्र ने पिछले महीने फैसला किया था कि जीएसटी परिषद की 41वीं और 42वीं बैठक 27 अगस्त और 19 सितंबर को होगी।हालांकि, उस समय तक संसद के मानसून सत्र पर फैसला नहीं हुआ था। की पांच अक्टूबर को होने वाली बैठक काफी महत्वपूर्ण होगी, क्योंकि केंद्र और राज्यों के बीच जीएसटी संग्रहण में 2.35 लाख करोड़ रुपये की कमी के वित्तपोषण के मुद्दे पर विवाद चल रहा है। केंद्र की गणना के अनुसार इसमें से 97,000 करोड़ रुपये की कमी जीएसटी के कार्यान्वयन से जुड़ी है। शेष 1.38 लाख करोड़ रुपये की कमी राज्यों के राजस्व पर कोविड-19 के प्रभाव की वजह से है।केंद्र ने पिछले महीने राज्यों को रिजर्व बैंक द्वारा उपलब्ध कराई जाने वाली विशेष सुविधा के जरिये 97,000 करोड़ रुपये का कर्ज जुटाने या बाजार से 2.35 लाख करोड़ रुपये जुटाने के दो विकल्प दिए थे। इसके अलावा केंद्र ने विलासिता और अहितकर XTB में कैसे लॉग इन करें वस्तुओं पर मुआवजा उपकर को 2022 से आगे बढ़ाने का भी प्रस्ताव किया था, जिससे राज्य कर्ज का भुगतान कर सकें।छह गैर-भाजपा शासित राज्यों पश्चिम बंगाल, केरल, दिल्ली, तेलंगाना, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु ने केंद्र को पत्र लिखकर राज्यों द्वारा कर्ज लेने के विकल्प का विरोध किया था।सूत्रों ने बताया कि आठ सितंबर तक सात राज्य अपनी पसंद के विकल्प के बारे में केंद्र को सूचित कर चुके हैं। गुजरात, बिहार, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और त्रिपुरा ने 97,000 करोड़ रुपये का कर्ज लेने का विकल्प चुना है। वहीं सिक्किम और मणिपुर ने दूसरा 2.35 लाख करोड़ रुपये बाजार से जुटाने वाले कर्ज का विकल्प चुना है।Yogi Oath Ceremony: योगी के शपथ ग्रहण से पहले एक्शन में बुलडोजर, गाजियाबाद में करोड़ों की अवैध संपत्ति XTB में कैसे लॉग इन करें जमींदोज******Highlightsउत्तर प्रदेश में आज योगी आदित्यनाथ दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं। 2022 के विधानसभा चुनावों में योगी 'बुलडोजर बाबा' के नाम से प्रसिद्ध हो गए। यही वजह है कि बाबा का बुलडोजर शपथ ग्रहण से पहले ही फिर से काम पर लग गया है। दरअसल, गुरुवार को गाजियाबाद में करोड़ों की अवैध संपत्ति को बुलडोजर ने जमींदोज कर दिया।गौरतलब है XTB में कैसे लॉग इन करें कि गाजियाबाद जिले के वसुंधरा जोन के साइट चार में एक रसूखदार माफिया ने नगर निगम की 7084 वर्ग मीटर जमीन पर अवैध कब्जा किया हुआ था। इस जमीन पर माफिया ने बैंक्वेट हाल बना रखा था। बैंक्वेट हाल की कीमत वर्तमान में 85 करोड़ रूपये के आसपास बतायी जा रही है। गुरुवार को नगर निगम के बुलडोजर ने इस करोड़ों के बैंक्वेट हाल को जमींदोज कर दिया।बताया जा रहा है कि इस जमीन पर माफिया का साल 1996 से कब्जा था। राजनीति में ऊपर तक पहुंच होने के कारण प्रशासन उसके खिलाफ कार्रवाई करने से बचता रहा, लेकिन गुरुवार को गाजियाबाद नगर निगम ने इस जमीन को कब्जा मुक्त करवा लिया। जानकारी है कि माफिया से मुक्त कराई गई जमीन पर स्वास्थ्य विभाग के वाहनों के लिए पार्किंग बनाई जाएगी।बता दें कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ ने गुडों और माफियाओं की अवैध संप्तियों पर धड़ल्ले से बुलडोजर चलवाया है। इसके चलते अपराधियों के मन में योगी के बुलडोजर का खासा खौफ है। सीएम योगी XTB में कैसे लॉग इन करें आदित्यनाथ अपने पहले कार्यकाल में कई बड़े अपराधियों की अवैध संपत्तियों को बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त करवा चुके हैं।

रेटिंग: 4.81
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 483
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *