विदेशी मुद्रा सफलता की कहानियां

बिटकॉइन शिखर

बिटकॉइन शिखर
बिटकॉइन के साथ एक रोचक बात इसे डेवलप करने वाले की गोपनीयता है। आज तक कोई नहीं जानता कि बिटकॉइन के डेवलपर सातोशी नाकामोतो की असल पहचान क्या है। नाकामोतो ने पेमेंट के तरीके में क्रांति लाने वाला प्रोडक्ट डेवलप करने के महज तीन साल बाद क्रिप्टो मार्केट को छोड़ दिया। बताया जाता है कि नाकामोतो 2011 में क्रिप्टो मार्केट से बाहर निकल गए।

Cryptocurrency की दुनिया में भूचाल! रिकॉर्ड हाई से 50% लुढ़का बिटकॉइन, जानें क्या है वजह?

Cryptocurrency की दुनिया में भूचाल! रिकॉर्ड हाई से 50% लुढ़का बिटकॉइन, जानें क्या है वजह?

Cryptocurrency News: क्रिप्टकरेंसी की दुनिया में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। पिछले कुछ समय से बिटकॉइन (Bitcoin) समेत अन्य टोकन में भारी गिरावट देखने को मिल रही है। शनिवार को क्रिप्टो मार्केट में जबरदस्त उथल-पुथल (Crypto बिटकॉइन शिखर market crash) का माहौल रहा। दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल करेंसी बिटकॉइन में भारी गिरावट दर्ज की गई।

बिटकॉइन नवंबर में अपने पीक पर था, तब से अब तक यह 45% नीचे आ चुका है। इस गिरावट के बाद बिटकॉइन के मार्केट वैल्यू में 600 बिलियन डॉलर से अधिक की कमी दर्ज की गई है। वहीं, कुल क्रिप्टो मार्केट को 1 ट्रिलियन डॉलर से अधिक का नुकसान हुआ है। बेस्पोक इन्वेस्टमेंट ग्रुप के अनुसार, बिटकॉइन शिखर बिटकॉइन और टोटल क्रिप्टो बाजार दोनों के लिए यह बड़ी गिरावट आई है। डॉलर के संदर्भ में इसे दूसरी सबसे बड़ी गिरावट कह सकते हैं।

13 साल का हुआ बिटकॉइन, छह पैसे से तय किया 48.2 लाख का सफर

13 साल का हुआ बिटकॉइन, छह पैसे से तय किया 48.2 लाख का सफर

बिटकॉइन के फाउंडर की पहचान अभी भी रहस्य है। (Source: Twitter/@BitcoinMagazine)

क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को नए जमाने की हकीकत बनाने वाले बिटकॉइन (Bitcoin) के अब 13 साल पूरे हो चुके हैं। इस 13 साल में बिटकॉइन ने ऐसा सफर तय किया है, जिसके ऊपर यकीन करना मुश्किल हो जाता है। महज छह पैसे के भाव से शुरू हुआ यह सफर अभी 48.2 लाख के शिखर पर जा पहुंचा है।

13 साल पहले प्रकाशित हुआ था पहला Bitcoin White Paper

आज से 13 साल पहले 31 अक्टूबर 2008 को बिटकॉइन की औपचारिक शुरुआत हुई थी। उस रोज पहली बार बिटकॉइन का व्हाइट पेपर पब्लिश (Bitcoin White Paper) हुआ था। इसे सातोशी नाकामोतो (Satoshi Nakamoto) के नकली नाम से ऑनलाइन पब्लिश किया गया था। ‘बिटकॉइन: अ पीअर-टू-पीअर इलेक्ट्रॉनिक कैश सिस्टम’ शीर्षक से प्रकाशित व्हाइट पेपर में बताया गया था कि कैसे बिना किसी सरकारी के नियंत्रण वाली भविष्य की ऑनलाइन पेमेंट प्रणाली से लोगों को फायदा हो सकता है।

Bitcoin Crash: क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन की कीमत गिरकर 21 हजार डॉलर बिटकॉइन शिखर के नीचे पहुंची, जानिए, कहां तक और टूटेगा?

Edited by: Alok Kumar @alocksone
Published on: June 14, 2022 13:59 IST

Bitcoin- India TV Hindi

Photo:FILE

Highlights

  • नवंबर 2021 में 68,000 डॉलर पर पहुंच गया था बिटकॉइन
  • 12 हफ्ते से लगातार गिर रही है बिटकॉइन की कीमत
  • बिटकॉइन में अगले 6 महीनों में और बड़ी गिरावट की आशंका

Bitcoin Crash: शीर्ष क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (बीटीसी) मंगलवार को लगभग 21,000 डॉलर प्रति सिक्का तक गिर गया। लगभग पांच साल पहले बिटकॉइन इस स्तर पर थी। वैश्विक क्रिप्टो बाजार कमजोर मैक्रोइकॉनॉमिक वातावरण और क्रिप्टो स्पेस के भीतर से प्रणालीगत जोखिम के कारण क्रैश होने के कारण यह लगभग 20,000 रुपये से 21,000 रुपये प्रति बीटीसी पर मडरा रहा है।

कहां तक गिर सकता है बिटकॉइन भाव

विश्लेषकों के मुताबिक, इस साल बिटकॉइन की कीमत गिर कर 14,000 डॉलर तक पहुंच सकती है। 14,000 डॉलर की संभावित निचली सीमा बिटकॉइन के लिए 68,000 डॉलर के ऐतिहासिक उच्च स्तर से लगभग 80 प्रतिशत की गिरावट का प्रतिनिधित्व करेगी। ऑन-चेन एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म क्रिप्टोक्वांट में योगदानकर्ता वेंचरफाउंडर ने ट्वीट किया, अगले 670 दिनों में, बीटीसी अगले 6 महीनों में हथियार डाल देगा और चक्र के नीचे (14 हजार से 21 हजार डॉलर) तक पहुंच जाएगा, फिर 2023 तक लगभग 40 हजार डॉलर पर फिर से पहुंच जाएगा।

बिटकॉइन लगभग 12 सीधे हफ्ते लगातार गिरा। मार्च में लगभग 49,000 डॉलर मूल्य से गिरकर लगभग 21,000 डॉलर पर पहुंच गया है। क्रिप्टो लेंडिंग प्लेटफॉर्म सेल्सियस ने घोषणा की है कि बिटकॉइन ने 'अत्यधिक बाजार स्थितियों' का हवाला देते हुए सभी निकासी को रोक दिया था। फर्म ने ग्राहकों को एक ज्ञापन में लिखा, 'बाजार की चरम स्थितियों के कारण, आज हम घोषणा कर रहे हैं कि सेल्सियस सभी व्रिडॉवल्स, स्वैप और खातों के बीच ट्रांसफर्स को रोक रहा है।

बहुत मजेदार है बिटकॉइन का सफर, जानते हैं आप?

12 जनवरी 2009 को पहला ट्रांजैक्शन

बिटकॉइन को बनाने की प्रक्रिया माइनिंग कहलाती है। माइनिंग असल में एक जटिल गणितीय पहेली को हल करने की प्रक्रिया है, जिसमें बेहिसाब कंप्यूटिंग पावर की जरूरत होती है। इसमें भारी मात्रा में बिजली भी खर्च होती है।

फिलहाल ग्लोबल मार्केट कैप के लिए अब 1.30 ट्रिलियन डॉलर एक रेजिस्टेंस की तरह काम कर रहा है तो बिटकॉइन के लिए 30 हजार डॉल . अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated : May 26, 2022, 10:20 IST

नई दिल्ली. क्रिप्टोकरेंसी मार्केट पिछले कुछ दिनों से स्थिर नजर आ रहा है. लगभग 1-2 फीसदी तक ऊपर या फिर नीचे की तरफ मूवमेंट दिख रही है. कल बाजार में लगभग 2 फीसदी की बढ़त थी, तो आज बाजार में गिरावट है. गुरुवार को भारतीय समयानुसार सुबह 9:48 बजे तक ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कैप (बिटकॉइन शिखर Global Crypto Market Cap) 1.27 फीसदी की गिरावट के साथ 1.27 ट्रिलियन डॉलर पर आ गई है.

फिलहाल ग्लोबल मार्केट कैप के लिए अब 1.30 ट्रिलियन डॉलर एक रेजिस्टेंस की तरह काम कर रहा है तो बिटकॉइन के लिए 30 हजार डॉलर का स्तर एक रेजिस्टेंस बन गया है. दोनों के लिए इस स्तर के ऊपर ठहर पाना मुश्किल दिख रहा है. हालांकि पिछले कुछ दिनों से ट्रोन में लगातार बढ़ोतरी हुई है और आज भी गिरावट के बीच यह क्रिप्टोकरेंसी बढ़त के साथ ट्रेड की जा रही है.

रेटिंग: 4.71
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 166
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *